वाट्सअप भी

वाट्सअप भी 🐣मुर्गीयों 🐓के
पिंजरे जैसे ही है
बार बार खोल के
देखना पड़ता है कि किसी ने🥚अंडा तो नही दीया🐥