Amritsir ka Pagal

Please install Hindi font to view this Joke..

अमृतसर के पागलखाने में नया मरीज भर्ती किया गया। उसका चेकअप करते हुऐ एक डाक्टर ने कहा कि आप मानसिक रूप से तौ ठीक ठाक लग रहे हैं….. फिर यहां कैसे आ गये।
मरीज बोला डाक्टर मैं ठीक हूं पर बात यह है कि कुछ समय पहले मैंने एक विधवा से शादी की…… उसके एक जवान बेटी थी….. मेरे पिता जी ने उससे शादी कर ली और फिर मेरी पत्नी मेरे पिता जी की सास बन गई। कुछ समय बाद मेरे पिता जी के घर बेटी पैदा हुई और वह मेरी सौतेली बहन बन गई। इसके अलावा वह मेरी नवासी भी थी। क्योंकि मैं उसकी नानी का पति था। अब मेरे घर बेटा हुआ। एक तरफ मेरी सौतेली मां मेरे बेटे की बहन लगती थी क्योंकि वह उसकी मां का बेटा था। दूसरी तरफ वह उसकी दादी लगती थी क्योंकि वह मेरी मां भी थी। इस तरह मेरा बेटा मेरी मां का भाई बन गया। डाक्टर साहब आप सोचो मेरे पिताजी मेरे दामाद और मैं उनका ससुर…. इतना ही नहीं मेरी सौतेली मां मेरे बेटे की बहन यानि मेरा बेटा मेरा मामा और मैं अपने बेटे का भांजा…… तभी अचानक डाक्टर जोर-जोर से रोने लगा और उसने मरीज से पूछा कि मेरे बाप मैं कौन हूं.

Submitted by: Dipti Jain (May 20 2009)

Comments are closed.